Kota ke Prasidh Mandir | कोटा के प्रसिद्ध मंदिर जो आपको जरूर देखना चाहिए

You are currently viewing Kota ke Prasidh Mandir | कोटा के प्रसिद्ध मंदिर जो आपको जरूर देखना चाहिए

Kota ke Prasidh Mandir: Rajasthan में कोटा के प्रसिद्ध मंदिर कई सारे है, जो बहुत प्राचिन और लोकप्रिय है, ये मंदिर अपने आप में अनेक रहस्य छुपाए हुए है। वैसे तो कोटा में बहुत सारे प्रसिद्ध मंदिर है लेकिन आज हम आपको जिनके बारे में बता रहे है वह कोटा के प्रमुख मंदिर है।

कोटा के प्रसिद्ध मंदिर | Kota ke Prasidh Mandir – Rajasthan

खड़े गणेश जी मंदिर | Khade Ganesh Ji Mandir

Kota ke Prasidh Mandir में से एक है यहा का खड़े गणेश जी मंदिर का मन्दिर जो कि लगभग 700 वर्षो से भी अधिक प्राचिन है। इस मंदिर में प्रतिवर्ष लाखो यात्री दर्शनो के लिये पहुचते है। इस मंदिर के पास प्रसिद्ध Ganesh Garden स्थित है जिसे गणेश उद्यान के नाम से जाना जाता है। Ganesh चतुर्थी के दिन यहा बहुत ही ज्यादा संख्या मे श्रध्दालु भगवान Ganesh Ji के दर्शन करने के लिये आते है। यहा पर प्रत्येक बुधवार हजारो यात्री दर्शनो के लिये लोग दुर-दुर से आते है।

Read Also:  टॉप 10 असम में घूमने की जगह | असम के पर्यटन स्थल जो बहुत प्रसिद्ध हैं।

हनुमान मंदिर रंगबाड़ी | Rang Badi Hanuman Temple, Kota

कोटा के सुप्रसिद्ध मंदिर (Kota ke Prasidh Mandir) में से एक हे यहा का रंगबाड़ी हनुमान मन्दिर जो कि प्राचिन होने केे साथ ही सुुंदर तथा भव्य हैै। इस मंदिर में हनुमान जी की प्रतिमा केे साथ राम मदिर तथा अम्बे माता का मंदिर भी स्थित है। इस मंदिर में प्रतिवर्ष लाखो यात्री दर्शनो के लिये पहुचते है विशेषकर नव्ररात्रि में भक्तो की संख्या सबसे अधिक होती है।

विभीषण मंदिर कैथून, कोटा | Kota ke Prasidh Mandir

यह लंका के राजा रावन के भाई विभीषन का विश्व मे एकमात्र प्रसिद्ध मंदिर है जो कोटा से 15 किलोमीटर दुर कैथून नाम के कस्बे में स्थित है। विभीषण मंदिर कैथून, इस प्रसिद्ध मंदिर का निर्माण चौथी सताब्दी मे हुआ था। यह मंदिर अपने अंदर अनेको राज छिपाये लिये बैटा है जो कि रामायण के काल की मानी जाती है यहा पर इस मन्दिर का दर्शन करने लिय लोग सैकडो किलोमीटर लम्बी दूरी का सफर करके यहा पर आते है। यहा प्रतिवर्ष होली के दिन भव्य मेले का आयोजन होता है और इस मेले में बहुत ज्यादा भक्त दर्शन के लिये आते है

सोमेश्वर महादेव मंदिर चारचौमा, कोटा

सोमेश्वर महादेव मंदिर चारचौमा: भगवान शिव का यह विशाल मंदिर कोटा से 20 किलोमीटर दूर चारचौमा नामक स्थान पर स्थित है। यहा पर भोलेबाबा चतुर्मुखी रुप में विराजमान है जो कि अत्यंत सुंदरता लिये तथा मनमोहक छवि का दर्शन भक्तो के लिये सुखद होता है। इस मन्दिर में प्रतिवर्ष Mahashivratri के समय विशाल व भव्य मेले का आयोजन होता है जो कि लगभग 15 दिन तक चलता है । इस मंदिर में प्रतिवर्ष लाखो Tourist दर्शनो के लिये पहुचते है विशेषकर महाशिवरात्रि मे भक्तो की संख्या सबसे अधिक होती है। यहा पर माता पार्वती की सुंदर व आकर्षक प्रतिमा स्थापित है, तथा शिव वाहन नन्दी भी विशाल रुप में विराजमान है।

Read Also:  5 Best Places in India to Visit in Summer 2023 When You Need Some Peace and Quiet

गोदावरी धाम मंदिर, कोटा | GODAVARI DHAM BALAJI TEMPLE

यह मंदिर Chambal Garden के Main Gate के समीप स्थित है यहा पर हनुमान जी का मंदिर है, जिसमे हनुमान जी कि 5 फीट बडी प्रतिमा है। (Godavari Dham Kota) गोदावरी धाम मंदिर के बारे मे एसी मान्यता है की इसमे विराजमान हनुमान जी मुर्ति पहले चम्बल नदी के अंदर थी फिर बाबा गोपीनाथ ने इसे नदी से बाहर निकालकर इस मदिर कि स्थापना की। यहा पास में ही Chambal Garden का सुंदर नजारा देखने के साथ-साथ Chambal River को भी निहार सकते है।

शिवपुरी धाम मंदिर | Shiv Puri Dham, Kota

शिवपुरी धाम मंदिर: यह स्थान कोटा के प्रसिद्ध स्थनो में से एक है (कोटा के पर्यटन स्थल) जो थेकडा नदी के किनारे स्थित है यहा पर भगवान शिव के 505 शिव लिंग आपको एक साथ देखने को मिलते है। यह धाम स्वास्तिक के चिन्ह के आकार मे भगवान शिव के प्रमुख शिव लिंगो को स्थापित किया गया है। इस मंदिर में प्रतिवर्ष लाखो Tourist दर्शनो के लिये पहुचते है विशेषकर महाशिवरात्रि में भक्तो की संख्या सबसे अधिक होती है। इनमे से प्रमुख शिव लिंग का आकार लगभग 10 फीट का है। इस स्थान पर परमपिता ब्रम्हा जी का भी मन्दिर स्थापित है, जो कि अत्यंत सुंदर तथा भव्य है।

Read Also:  6 Hidden Gems in South Africa That You Need To See in 2023

दाढ़ देवी मंदिर | Sri Dadh Devi Mata Temple, Kota

यह मंदिर कोटा शहर से 10km दूर स्थित है, जहा पर माता दाढ़ देवी का भव्य मंदिर स्थित है । यहा पर माता रानी की मनमोक छवी देवी रुप मे विराजमान है । इस मंदिर में प्रतिवर्ष लाखो यात्री दर्शनो के लिये पहुचते है विशेषकर नव्ररात्रि मे भक्तो की संख्या सबसे अधिक होती है। यह मंदिर पथरीले व जंगली भू-भाग में स्थित है यहा पर हजारो की संख्या मे बन्दर देखने को मिलते है। इस मंदिर के आस पास घना जंगल है, इसमे अनेक प्रकार के जंगली जानवर रहते है।

Final Words for Kota ke Prasidh Mandir

आशा करते है की आपको यह पोस्ट “Kota ke Prasidh Mandir | 7 कोटा के प्रसिद्ध मंदिर जो आपको जरूर देखना चाहिए” जरूर पसंद आई होगी, कृपया इसे अपने दोस्तों क साथ जरूर शेयर करें.

Leave a Reply