टॉप 10 असम में घूमने की जगह | असम के पर्यटन स्थल जो बहुत प्रसिद्ध हैं।

You are currently viewing टॉप 10 असम में घूमने की जगह | असम के पर्यटन स्थल जो बहुत प्रसिद्ध हैं।

टॉप 10 असम में घूमने की जगह 2023: यदि आप असम में छुट्टियाँ मनाने का सोच रहे हैं और घूमने की जगहों के बारे में जानकारी पाना चाहते हैं, तो आज हम आपको असम के पर्यटन स्थल (Tourist attractions in Assam) जो बहुत प्रसिद्ध हैं, उनके बारे में बतायेंगे।

आइये दे देखते हैं कि असम की प्रसिद्ध घूमने की जगह (famous places to visit in Assam) कौन सी हैं।

10 असम में घूमने की जगह | Top 10 tourist places in Assam.

1. कामाख्या मंदिर | Kamakhya Temple, Guwahati.

कामाख्या मंदिर गुवाहाटी, असम में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है और देवी कामाख्या को समर्पित है, जिन्हें देवी शक्ति का एक रूप माना जाता है। असम में घूमने की जगह (visiting places of Assam) में इसे हमने सबसे पहले लिया है। यह 51 शक्तिपीठों में सबसे पुराने में से एक है और इसे तांत्रिक शक्तिवाद के लिए सबसे महत्वपूर्ण पूजा स्थलों में से एक माना जाता है। यह मंदिर अपने वार्षिक अम्बुबाची मेले के लिए प्रसिद्ध है, जिसके दौरान हजारों भक्त मंदिर में प्रार्थना करने और विभिन्न अनुष्ठानों में भाग लेने के लिए आते हैं।

कामाख्या मंदिर | Kamakhya Temple, Guwahati, असम में घूमने की जगह
असम के पर्यटन स्थल

मंदिर को देवी के मासिक धर्म की अनूठी परंपरा के लिए भी जाना जाता है, जहां देवी के मासिक धर्म के दौरान हर साल तीन दिनों के लिए मंदिर बंद रहता है। यह मंदिर शक्तिवाद के अनुयायियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है।

2. माजुली द्वीप | Majuli Island

माजुली द्वीप भारत के असम में ब्रह्मपुत्र नदी में स्थित एक बड़ा नदी द्वीप है। इसे दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप माना जाता है और यह अपनी अनूठी संस्कृति और जैव विविधता के लिए जाना जाता है। यह द्वीप असमिया नव-वैष्णव संस्कृति, हिंदू धर्म की एकेश्वरवादी परंपरा का केंद्र होने के लिए भी जाना जाता है। यह 15वीं और 16वीं शताब्दी में महान असमिया संत और समाज सुधारक श्रीमंत शंकरदेव और उनके शिष्य माधवदेव द्वारा स्थापित कई प्राचीन क्षत्रपों (मठों) का घर है। ये क्षत्रप माजुली के लोगों की संस्कृति और परंपरा के जीवंत उदाहरण हैं।

माजुली द्वीप | Majuli Island, असम में घूमने की जगह

अपने सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व के अलावा, माजुली द्वीप अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए भी जाना जाता है, जिसमें इसके हरे-भरे जंगल, आर्द्रभूमि और विविध वन्य जीवन शामिल हैं। यह यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है और यूनेस्को द्वारा दुनिया के सबसे लुप्तप्राय द्वीपों में से एक के रूप में भी मान्यता प्राप्त है। यह द्वीप इकोटूरिज्म (Eco-tourism) के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य (Popular Destination) है और अपने पारंपरिक शिल्प जैसे मिट्टी के बर्तन और मुखौटा बनाने के लिए भी जाना जाता है।

Read Also:  Kota ke Prasidh Mandir | कोटा के प्रसिद्ध मंदिर जो आपको जरूर देखना चाहिए

3. मानस राष्ट्रीय उद्यान | Manas National Park

मानस राष्ट्रीय उद्यान भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में स्थित एक प्रसिद्ध वन्यजीव अभयारण्य है। यह अपने विविध प्रकार के वनस्पतियों और जीवों के लिए जाना जाता है, जिसमें बंगाल टाइगर, भारतीय हाथी और भारतीय गैंडे शामिल हैं। पार्क बड़ी संख्या में पक्षियों की प्रजातियों का भी घर है और यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल, बायोस्फीयर रिजर्व और प्रोजेक्ट टाइगर रिजर्व है। यह दुनिया में जैव विविधता वाले हॉटस्पॉट में से एक होने के लिए भी प्रसिद्ध है।

अपनी समृद्ध जैव विविधता के अलावा, मानस राष्ट्रीय उद्यान अपने सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व के लिए भी जाना जाता है। पार्क एक ऐसे क्षेत्र में स्थित है जो सदियों से विभिन्न स्वदेशी समुदायों द्वारा बसा हुआ है, और पार्क के कई आगंतुक इन समुदायों की संस्कृति और इतिहास के बारे में जानने के लिए आते हैं। पार्क कई महत्वपूर्ण पुरातात्विक और ऐतिहासिक स्थलों का भी घर है, जिसमें कामरूप के प्राचीन साम्राज्य के अवशेष भी शामिल हैं।

4. शिवसागर | Sivasagar, Assam

शिवसागर, जिसे सिबसागर के नाम से भी जाना जाता है, भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम का एक शहर है। यह अपने ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व के लिए जाना जाता है। शहर का नाम शिवसागर टैंक, एक बड़े टैंक या तालाब के नाम पर रखा गया है, जिसे अहोम शासन (1228-1826) के दौरान बनाया गया था और इसे शहर का प्रतीक माना जाता है।

यह शहर अहोम साम्राज्य की राजधानी था और अहोमों के शासन के दौरान शक्ति, संस्कृति और सभ्यता के एक महत्वपूर्ण केंद्र के रूप में कार्य करता था। शिवसागर में कई प्राचीन स्मारक, मंदिर, महल और अन्य ऐतिहासिक स्थल देखे जा सकते हैं, जो शहर के समृद्ध इतिहास और सांस्कृतिक विरासत का प्रमाण हैं। इनमें से सबसे प्रसिद्ध रंग घर है, जो 18वीं शताब्दी का एक प्राचीन शाही महल है।

शिवसागर | Sivasagar, Assam

शिवसागर अपने चाय बागानों और असम चाय के उत्पादन के लिए भी जाना जाता है। शहर और उसके आसपास के चाय बागानों को दुनिया में सबसे अच्छे चाय बागानों में से एक माना जाता है।

संक्षेप में, शिवसागर अपनी समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत के साथ-साथ भारत में चाय उत्पादन का एक महत्वपूर्ण केंद्र होने के लिए जाना जाता है।

5. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान | Kaziranga National Park, Assam

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान भारतीय राज्य असम में स्थित एक प्रसिद्ध राष्ट्रीय उद्यान है, जो भारतीय एक सींग वाले गैंडों की महत्वपूर्ण आबादी के लिए जाना जाता है। यह एक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल और एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल भी है। पार्क हाथियों, बाघों और पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों सहित कई अन्य वन्यजीवों का भी घर है। पार्क लुप्तप्राय गैंडों की रक्षा के लिए अपने संरक्षण प्रयासों के लिए भी जाना जाता है, जिससे यह एक महत्वपूर्ण पारिस्थितिक स्थल बन जाता है।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान | Kaziranga National Park, Assam, असम में घूमने की जगह
Famous places to visit in Assam

एक सींग वाले गैंडों के लिए एक अभयारण्य होने के अलावा, काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान अन्य वन्यजीवों की एक विस्तृत विविधता का घर भी है। पार्क लगभग 2,400 भारतीय हाथियों का घर है, साथ ही बंगाल टाइगर की एक महत्वपूर्ण आबादी भी है। पार्क में पाए जाने वाले अन्य जानवरों में भारतीय बाइसन, जल भैंस और दलदली हिरण शामिल हैं।

Read Also:  6 Hidden Gems in South Africa That You Need To See in 2023

पार्क विभिन्न प्रकार की पक्षी प्रजातियों का भी घर है, जिनमें ग्रेटर एडजुटेंट सारस जिसे धेनुक भी कहते हैं, काली गर्दन वाले सारस और सफेद पेट वाले बगुले शामिल हैं, जिन्हें सभी लुप्तप्राय माना जाता है।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान अपने संरक्षण प्रयासों के लिए भी जाना जाता है, विशेष रूप से भारतीय एक सींग वाले गैंडों के संरक्षण के लिए। पार्क सक्रिय संरक्षण और प्रजनन कार्यक्रमों के माध्यम से इस प्रजाति की आबादी को बढ़ाने में सफल रहा है, जो विलुप्त होने के कगार पर थी।

6. डिगबोई | Digboi, Assam

डिगबोई भारतीय राज्य असम का एक शहर है जो अपनी तेल रिफाइनरी और तेल समृद्ध क्षेत्र के लिए प्रसिद्ध है। यह असम में पहले तेल क्षेत्र का स्थान है और अभी भी एशिया में सबसे पुराना है। इसके अतिरिक्त, डिगबोई एशिया में पहली तेल रिफाइनरी का घर है, जिसने इसे तेल उद्योग के लिए ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण बना दिया है।

डिगबोई अपने समृद्ध इतिहास और सांस्कृतिक विरासत के लिए भी जाना जाता है। यह शहर 1866 में अंग्रेजों द्वारा स्थापित किया गया था और यह 19वीं शताब्दी के अंत से तेल उद्योग का एक महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। यह ब्रिटिश औपनिवेशिक काल के दौरान असम के तेल उद्योग का केंद्र भी था। शहर में कई ऐतिहासिक स्थल और स्मारक हैं जो इसके ऐतिहासिक महत्व को दर्शाते हैं, जिनमें डिगबोई युद्ध स्मारक, डिगबोई शताब्दी संग्रहालय और डिगबोई ऑयल हेरिटेज पार्क शामिल हैं।

डिगबोई रिफाइनरी, जो एशिया की सबसे पुरानी रिफाइनरी है, एक सदी से अधिक समय से परिचालन में है और अपनी उन्नत तकनीक और दक्षता के लिए जानी जाती है। यह राज्य और देश के लिए राजस्व का एक प्रमुख स्रोत है और बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार देता है।

संक्षेप में, डिगबोई अपने ऐतिहासिक महत्व, तेल उद्योग और सांस्कृतिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है।

7. जोरहाट | Jorhat, Assam

जोरहाट भारत के असम राज्य का एक शहर है। यह अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और ऐतिहासिक महत्व के लिए जाना जाता है। जोरहाट अहोम साम्राज्य की अंतिम राजधानी थी, जिसने लगभग 600 वर्षों तक वर्तमान असम के कुछ हिस्सों पर शासन किया। यह शहर अपने चाय बागानों के लिए भी जाना जाता है और भारत में चाय उत्पादन का एक प्रमुख केंद्र है। इसके अतिरिक्त, जोरहाट कई कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों का घर है, जो इसे सीखने का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनाता है। यह शहर एक प्रमुख पर्यटन स्थल भी है, जहां कई ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थल घूमने के लिए हैं।

जोरहाट | Jorhat, Assam

8. डिब्रूगढ़ | Dibrugarh

डिब्रूगढ़ भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम का एक शहर है। यह अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, चाय के बागानों और तेल और प्राकृतिक गैस के भंडार के लिए जाना जाता है। डिब्रूगढ़ को असम की सांस्कृतिक राजधानी माना जाता है और यह भारत में चाय उत्पादन का एक प्रमुख केंद्र है।

Dibrugarh,  चाय के बागान

डिब्रूगढ़ व्यापार और वाणिज्य का एक महत्वपूर्ण केंद्र भी है, जहां एक बड़ा बंदरगाह और हवाई अड्डा इसे देश के अन्य हिस्सों से जोड़ता है। शहर में कई ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थल हैं, जिनमें डिब्रू-सैखोवा राष्ट्रीय उद्यान और राधा कृष्ण मंदिर शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, डिब्रूगढ़ शिक्षा का एक महत्वपूर्ण केंद्र है और कई विश्वविद्यालयों और कॉलेजों का घर है।

Read Also:  जानिए कानपुर क्यों प्रसिद्ध है? कानपुर शहर की ऐसी बातें जो आपको नही पता होंगी।

9. पोबितोरा | Pobitora Wildlife Sanctuary

पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य भारतीय राज्य असम में स्थित है और भारतीय गैंडों की आबादी के लिए प्रसिद्ध है। अभयारण्य दुनिया में गैंडों के उच्चतम घनत्व में से एक है, जो इसे वन्यजीव उत्साही और पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य बनाता है। इसके अतिरिक्त, अभयारण्य कई अन्य वन्यजीव प्रजातियों का भी घर है, जिनमें हाथी, जंगली जल भैंस और विभिन्न पक्षी प्रजातियां शामिल हैं।

10. नामेरी राष्ट्रीय उद्यान | Nameri National Park, Assam

नामेरी राष्ट्रीय उद्यान भारत के असम राज्य में स्थित है और यह वनस्पतियों और जीवों के विविध प्रकार के लिए प्रसिद्ध है। यह पार्क हाथियों, बाघों, तेंदुओं और हिरणों की विभिन्न प्रजातियों सहित वन्यजीव प्रजातियों की एक विस्तृत श्रृंखला का घर है। पार्क भी एक महत्वपूर्ण पक्षी देखने का स्थान है और पक्षियों की 300 से अधिक प्रजातियों का घर है, जिसमें सफेद पंखों वाली लकड़ी की बत्तख भी शामिल है, जिसे एक खतरनाक प्रजाति माना जाता है।

नामेरी राष्ट्रीय उद्यान | Nameri National Park, Assam

नमेरी राष्ट्रीय उद्यान अपने खूबसूरत परिदृश्य के लिए भी जाना जाता है, जिसमें जिया भोरोली नदी भी शामिल है, जो पार्क के माध्यम से चलती है। यह पार्क अपनी साहसिक गतिविधियों जैसे व्हाइट वाटर राफ्टिंग, रॉक क्लाइम्बिंग और ट्रेकिंग के लिए भी प्रसिद्ध है।

Final words

आशा है कि आपको यह पोस्ट “टॉप 10 असम में घूमने की जगह | असम के पर्यटन स्थल जो बहुत प्रसिद्ध हैं।” जरूर अच्छी लगी होगी। आपके कुछ प्रश्न हो तो आप हमसे पूछ सकते हैं। इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें। धन्यवाद।

Leave a Reply